Thursday, August 17, 2017

Siva Temple Fingeshwar - Chhattisgarh (छः मासी रात का बना है यह शिव मंदिर)

अति प्राचीन है फिंगेश्वर का फनिकेश्वर नाथ शिव मंदिर छः मासी रात का बना है यह मंदिर बिना कलश का है यह मंदिर कलश स्थापित करने से पहले ही भोर  हो गया था इसलिए कलश को मंदिर के अंदर स्थापित कर  दिया गया है  : खजुराहो के सामान ही इसमें महीन से महीन नक्क्सी व  कामुक प्रतिमा का निर्माण किया गया है  इस मंदिर की निर्माण शैली भी अदभुद है| इस मंदिर को बनाने में विशाल चट्टानों को तरास कर इसमें प्रयोग किया गया है| यह मदिर अपने अंदर अनेको राज छुपाये हुवे है| इसे स्थानीय लोग  फिंगेश्वर का खजुराहो मंदिर भी कहते है|  
Siva Temple Fingeshwar

Fanikeshwar Nath - Siva Temple  Fingeshwar

Siva Temple Fingeshwar

Siva Temple Fingeshwar







इस मंदिर के सामने बेहद अधभुद पांच शिखरों  वाला मंदिर  है  मंदिर के अंदर राम जानकी ,हनुमान मंदिर अनेको देवी - देवताओ का मंदिर है  इस मंदिर परिसर में  जमीन के अंदर राजमहल  किला नुमा मिलता है जिसे उस समय के तात्कालिक राजा ने निर्माण करवाया था  अब उसमे   हमेश जल भरा रहता है | जो उस मंदिर का मुख्य आकर्सन का केंद्र है| मंदिर से थोड़ी दूर आपको जर्जर हालत में राज महल देखने को मिलता है|जिसे राजा का दरबार कहा जाता है  जो पुराने ज़माने की याद दिलाती है| यहा  दशहरा काफी हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है| जिसमे भव्य शोभा यात्रा निकाली जिसमे राजा के वंशज आज भी अपनी कुल देवी देवता की पूजा अर्चना करते है| जिसे शाहि  दशहरा कहा जाता है| 
   
फनिकेश्वर  नाथ  मंदिर को को पाच कोसी धाम के रूप में पूजा जाता है | इस स्थान पर वनवास के समय माता सीता ने शिव जी की पूजा अर्चना किया था | 
दूर दूर से भक्त सावन मॉस में यहाँ बाबा को जल से अभिषेक करने के लिए आते है| 

No comments:

Post a Comment

आपके सुझाव ही हमे सुधार हेतु प्रेरित करेंगे